ब्रेकिंग न्यूज़राज्य

30 महीने बाद खुशी दुबे की जेल से रिहाई, बोली मैंने कुछ गलत नहीं किया।

बोली मुझे अदालत पर पूरा भरोसा था ,मैं 1 दिन बाहर अवश्य आऊंगी।

जनपद कानपुर देहात

Sk News Agency सदैव आपके मोबाइल पर

कानपुर देहात की बहुचर्चित विकरू कांड की आरोपित एवं अमर दुबे की नवविवाहिता पत्नी शनिवार 7:00 बजे कानपुर देहात की जिला जेल से रिहा हो गई।खुशी का परिवार जिला जेल के बाहर उन्हें घर ले जाने के लिए उनका परिवार परिवार जेल के बाहर उनके बाहर आने का बेसब्री से इंतजार कर रहा था।जैसे ही वह जेल से बाहर निकली तो अपनी मां को देखकर उसकी आंखें नम हो गई ।और जब मीडिया कर्मियों ने उससे बात करने की कोशिश की ,तो उसने बात करने से साफ इंकार कर दिया।आपको बता दें कि खुशी दुबे के घर आने से  पूर्व पुलिस ने cctv कैमरे घर पर लगवा कर तैयारी कर दिए थे। अब खुशी दुवे इन्हीं कैमरों के साए में अपने घर में रहेंगी।बाद में उन्होंने मीडिया से बात करते हुए बताया कि शादी के बाद जब रस्में हो रही थीं।उसी दौरान गोली चलने की आवाजें आईं। मुझे  जानकारी नहीं थी आखिर हो क्या रहा है ।इसके बाद घटना के दूसरे दिन पुलिस मेरे घर आई और मुझसे पूछताछ हुई। उसके बाद मुझे शाम को  थाने ले जाया गया। और मुझे  4 दिन थाने में रखा गया ।और इन 4 दिनों में मेरे साथ क्या-क्या हुआ बयां नहीं कर सकती।उसने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं बिल्कुल डरी हुई थी और यह तो नहीं कह सकती कि मैं दोषी थी या नहीं ,ऐसी हालत में मुझे बस इतना पता है कि मैंने गलत नहीं किया था। तो मेरे साथ गलत नहीं होगा। मुझे उच्च न्यायालय पर पूरा भरोसा था और मुझे मेरे वकील पर भी पूरा भरोसा था।

खुशी दुबे के वकील शिवाकांत दीक्षित ने कहा कि मैं खुशी दुबे को जेल से बाहर लाने में तो कामयाब हो गया ।मगर मेरी जिम्मेदारी तभी खत्म होगी, जब मैं पूरी तरह से बरी कराने में कामयाब हो जाऊंगा।वकील शिवाकांत दीक्षित ने कहा कि कुछ समय ऐसा भी आया जब लोगों का कहना था कि खुशी दुबे यदि बेकसूर है तो हाई कोर्ट ने जमानत क्यों नहीं दी।

आपको बताते चलें कि खुशी दुबे कानपुर के कुख्यात अपराधी विकास दुबे जिसने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी, जिसमें एक पुलिस क्षेत्राधिकारी भी इसकी गोली के शिकार हुए थे। उसी कुख्यात अपराधी विकास दुबे के साथी अमर दुबे की पत्नी है। विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद उसके साथी अमर दुबे की पत्नी यानी खुशी दुबे को पुलिस ने निर्दोष होते हुए भी जेल भेज दिया था। और खुशी दुबे की शादी को मात्र 2 दिन हुए थे बरहाल लगभग 30 महीने जेल में रहने के बाद खुशी दुबे को अब देश की सर्वोच्च न्यायालय ने जमानत दे दी है। और शनिवार शाम 7:00 बजे से रिहा भी हो चुकी थी।

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button