Sk News Agency- Delhiग्रामीण समस्याजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़राजनीतिविशेष

सुखबीर संधू और ज्ञानेश कुमार होंगे नए चुनाव आयुक्त।

विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी इन नियुक्तियों से हुए नाराज।

Sk News Agency-UP

नयी दिल्ली

व्यूरो डेस्क —————————— चुनाव आयोग में खाली चल रही है दो चुनाव आयुक्त की नियुक्ति को लेकर आखिरकार विराम लग हीगया।प्रधानमंत्री की अध्यक्षता  मैं हुई बैठक में आखिरकार दो चुनाव आयुक्त के नाम तय कर दिए गए।नए चुनाव आयुक्त बनेंगे उनके नाम , ज्ञानेश कुमार और सुखवीर संधू हैं।लोकसभा चुनाव से पहले देश में नए चुनाव आयुक्तों  की नियुक्ति को लेकर खींचतान मचती दिखाई दी है।नियुक्त प्रक्रिया को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी ने नियुक्त  प्रकिया को लेकर काफी सवाल उठाए हैं।उन्होंने नाराजगी जताते हुए मीडिया से कहा है कि उनसे बहुत ही अव्यवहारिक तरीके से नियुक्त में शामिल होने के लिए कहा गया।उन्होंने कहा कि पहले 212 नामों की एक लंबी लिस्ट देकर सिर्फ एक रात का समय दिया गया और फिर अगली सुबह सिर्फ 6नाम सामने रख दिये।वरिष्ठ नेता ने कहां कि इतने कम समय में कैसे नामों को अंतिम रूप दिया जा सकता है।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कानून मंत्री अर्जुन मेघवाल के साथ मीटिंग  के बाद ज्ञानेश कुमार और सुखवीर संधू का नाम तय कर दिया गया।

चयन प्रक्रिया को लेकर अधीर रंजन चौधरी की पांच आपत्तियां यह रहीं 

उनको आपत्ति पहली इस बात की रही कि इलेक्शन कमिश्नर के चयन को लेकर एक मीटिंग बुलाई गई थी, लेकिन वह मीटिंग रद्द हो गई थी।

उनको दूसरी आपत्ति है रही कि मेरे द्वारा चिट्ठी लिखकरअवगत कराया गया कि था कि पांच नाम शॉर्ट लिस्ट करके दीजिए।

उनको तीसरी आपत्ति यह रही कि उनको पश्चिम बंगाल से दिल्ली जब बुलाया गया तब उनको 212 नामों की एक लंबी लिस्ट दी गई थी।

उनको चौथी आपत्ति यह रही कि जब वह सुबह के समय मीटिंग में पहुंचे तो उनको 6 नाम दे दिए गए और कहा गया कि इनमें पसंद कर लीजिए. इस प्रक्रिया पर अधीर रंजन चौधरी काफी आहत दिखाई दिए।

उनको पांचवीं आपत्ति इस बात की रही कि हमारे द्वारा नाम  शेयर करने के लिए कहा गया था. लेकिन नाम शेयर नहीं किए गए।

कौन हैं नए चुनाव आयुक्त ज्ञानेश कुमार आईए जानते हैं

ज्ञानेश कुमार ज्ञानेश कुमार कुछ दिनों पहले ही सहकारिता मंत्रालय के सचिव के पद से सेवानिवृत हुए हैं। ज्ञात रहे कि ज्ञानेश कुमार ने मंत्रालय के गठन से लेकर वर्तमान तक कार्य कया है।ज्ञात रहे कि  यह मंत्रालय गृह मंत्रालय की अंतर्गत आता है। और इसके वर्तमान मुखिया है अमित शाह।ज्ञानेश कुमार इससे पहले गृह मंत्रालय में कश्मीर डिविजन के संयुक्त सचिव थे,उनके कार्यकाल में ही कश्मीर से धारा 370 हटाई गई थी।आपको अवगत कराने की जम्मू कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश में बदलवाने के लिए ज्ञानेश कुमार की महत्वपूर्ण भूमिका रही। गृह मंत्रालय के साथ काम करते हुए उनकी जम्मू कश्मीर पुनर्गठन विधेयक की तैयारी में भी सक्रिय भूमिका रही है।वह 1998 बैच के  केरल कैडर के आईएएस अधिकारी हैं।

कौन हैं नये चुनाव आयुक्त सुखवीर संधू आईए जानते हैं

आपको बताते चलें कि नए चुनाव आयुक्त बनाए गए 1988 बैच के आईएएस अधिकारी सुखबीर संधू को जुलाई 2021 में ओमप्रकाश की जगह उत्तराखंड का नया मुख्य सचिव नियुक्त किया गया था।संधू भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अध्यक्ष के रूप मैं प्रतिनियुक्ति पर काम कर चुके हैं। संधू पिछले वर्ष 30 सितंबर को उत्तराखंड सरकार के मुख्य सचिव के पद से सेवानिवृत हुए हैं।

खबर न्यूज़ एजेंसी संवाद सूत्र एवं मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर

[democracy id="1"]

Related Articles

Back to top button