उत्तरप्रदेशउत्तराखंडब्रेकिंग न्यूज़राज्य

रिहाई के बाद खुशी दुबे पहुंची पहली हाजिरी लगाने थाना चौबेपुर।

कोर्ट के आदेशानुसार खुशी दुबे लगाएंगी, हर सप्ताह चौबेपुर थाने में हाजिरी।।।

जनपद कानपुर देहात

Sk News Agency सदैव आपकी मोबाइल पर

कानपुर के बहुचर्चित बिकरू कांड में आरोपी खुशी दुबे अपनी मां के साथ न्यायालय के आदेश पर आज सोमवार को 11:30 बजे थाना चौबेपुर पहुंची। और हस्ताक्षर करके अपनी पहली हाजिरी लगाई।बताते चलें कि खुशी दुबे को शनिवार शाम को करीब 30 माह के बाद उनकी जेल से रिहाई हुई है ,और सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर जमानत मिली है।जमानत देते हुए कोर्ट ने शर्त रखी है कि खुशी दुबे हर सप्ताह में 1 दिन चौबेपुर थाने में अपनी हाजिरी लगवाने के लिए अवश्य आएंगी।खुशी दुबे ने चारों तरफ नजर घुमाकर थाने को निहारा, और एकटक देखती रही। इस बहुचर्चित बिकरू कांड के बाद इसी थाने में वह 4 दिनों तक रही थी। और इसी थाने से उसे माती जेल भेजा गया था।खुशी दुबे अपनी मां गायत्री देवी के साथ थाने में पहुंची आधे घंटे से ज्यादा देर हुए थाना परिसर में रुकी और महिला सिपाही ने बात करने के बाद हाजिरी रजिस्टर में खुशी दुबे के हस्ताक्षर करवाए और बोली कि हर हफ्ते थाने में आने के लिए दिक्कत तो होगी, पर न्यायपालिका के आदेशों का पालन बखूबी खुशी के साथ करूंगी।

बिकरू गांव में हुई घटना के बाद चर्चा में आ गई थी खुशी दुबे

2 जुलाई 2020 को चौबेपुर थाना क्षेत्र के गांव बिकरू में जब कुख्यात अपराधी विकास दुबे के घर दबिश देने गई थी। तो विकास दुबे और उसके गुर्गों ने जबरदस्त फायरिंग की थी। जिसमें एक क्षेत्राधिकारी एवं एक थानाध्यक्ष समेत आठ पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। क्षेत्राधिकारी एवं आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद पुलिस ने घटना में शामिल हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ अभियान चलाया। इस दौरान मुख्य आरोपी विकास दुबे एवं उसका साथी और रिश्ते में उसका भतीजा अमर दुबे सहित अन्य को एनकाउंटर में मार गिराया था। एनकाउंटर में मारे गए अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे के ऊपर भी फर्जी दस्तावेजों से सिम लेने सहित अन्य मामलों में मुकदमा दर्ज हुआ था।जिसकी घटना से 2 दिन पहले ही शादी हुई थी।

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button