Sk News Agency- Delhiजनसमस्यानई दिल्लीब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

राहुल की सत्ता धारियों को चुनौती मैं गांधी हूं सावरकर नहीं जो माफी मांगू।

लोकसभा सदस्यता गंवाने के बाद बोले झुकूंगा नहीं,डरुंगा नहीं।

Sk News Agency- नई दिल्ली

एसके न्यूज़ एजेंसी -सदैव आपके पास

नयी दिल्ली 

लोकसभा की सदस्यता से आयोग घोषित किए गए कॉन्ग्रेस नेता राहुल गांधी आज पहली बार मीडिया के सामने आए। और अपनी बात मीडिया के सामने रखी।राहुल गांधी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हिंदुस्तान में लोकतंत्र पर हमला हो रहा है।  इसके हमें रोज नये-नये उदाहरण देखने को मिल रहे हैं ।मैंने संसद में सबूत पेश किए, अड़ानी और मोदी के रिश्ते के बारे में बोला।उन्होंने कहा कि मैंने लोकसभा अध्यक्ष को एक लंबी चिट्ठी लिखी जिसमें पूरा वाक्य था। मैंने कहा अदानी जी को नियम बदलकर एयरपोर्ट दिए गए लेकिन कुछ नहीं हुआ। मेरे खिलाफ मंत्रियों ने झूठ बोला कि मैंने विदेशी ताकतों से मदद मांगी है ।मैंने लोकसभा अध्यक्ष  से कहा कि संसद का नियम है कि अगर कोई सांसद पर आरोप लगता है तो सांसद को जवाब देने का हक है। मैंने चिट्ठी लिखी उसका जवाब नहीं आया, मैं स्पीकर के रूप में लोकसभा अध्यक्ष के कक्ष में गया। उनसे कहा आप बोलने क्यों नहीं दे रहे हैं वह मुस्कुराए कहा मैं कुछ नहीं कर सकता।

राहुल बोले में सवाल पूछता रहूंगा

राहुल गांधी बोले कि मैं सवाल पूछने से पीछे नहीं हटूंगा मैं फिर पूछता हूं कि 20 हजार करोड रुपए किसके हैं ।और अडानी का मोदी जी के साथ रिश्ता क्या है। अगर इनको लगता है कि मेरी सदस्यता रद्द कराकर डरा कर धमका कर जेल भेज कर मुझे बंद करा सकते हैं, तो मुझे किसी चीज से डर नहीं लगता। राहुल ने कहा मैं हिंदुस्तान के लोकतंत्र के लिए लड़ा हूं और लड़ता रहूंगा।राहुल ने कहा कि राजनीत मेरे लिए कोई फैशन की बात नहीं है ,सच बोलना मेरे लिए कोई नई बात नहीं है ,यह मेरे जीवन की तपस्या है चाहे मुझे अयोग्य ठहराया जाय, मुझे मारे-पीटें, जेल में डालें लेकिन मुझे अपनी तपस्या करनी है, इस देश ने मुझे प्यार दिया इसलिए मुझे उसके लिए सब कुछ करना है।उन्होंने आगे कहा कि मैं सावरकर नहीं हूं मैं किसी से माफी नहीं मांगूंगा ,मैं गांधी हूं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वायनाड से मेरा प्यार का रिश्ता है ।और इस रिश्ते को बखूबी निभाता रहूंगा। मैं बाई बायनाड की जनता को चिट्ठी लिखूंगा ।राहुल बोले कि मैं भारत जोड़ो यात्रा में भी कहता रहा हूं कि सभी समुदाय को एक साथ मिलकर चलना चाहिए ।भारतीय जनता पार्टी ध्यान को भटकाने की कोशिश करती है। भाजपा कभी ओबीसी की बात करती है तो कभी-कभी विदेश की बात करती है ।भाजपा का यही तो काम है लेकिन फिर भी मैं 3 अरब डालर की बात को उठाना बंद नहीं करूंगा।राहुल गांधी पर हुई कार्रवाई के विरोध में संपूर्ण विपक्ष एक मंच पर आ गया है ।और सरकार की लगातार किरकिरी हो रही है।गांधी ने कहा कि मुझे समर्थन देने के लिए मैं सभी विपक्षी नेताओं का आभार व्यक्त करता हूं। आने वाले समय में हम सब मिलकर काम करेंगे ।राहुल ने कहा कि वे मुझे स्थाई रूप से भी अयोग्य करार दे दें लेकिन मैं अपना काम करता रहूंगा।ज्ञात रहे कि केरल की वायनाड संसदीय सीट का प्रतिनिधित्व राहुल गांधी कर रहे थे। जिनको सूरत की एक अदालत द्वारा वर्ष 2019 के मानहानि के एक मामले में सजा सुनाए जाने  के बाद शुक्रवार को लोकसभा की सदस्यता के लिए अयोग्य घोषित कर दिया गया। और लोकसभा सचिवालय की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि उनका अयोग्यता संबंधी आदेश 23 मार्च से प्रभावी होगा।और इस अ सूचना में बताया गया है कि राहुल गांधी संविधान के अनुच्छेद 102 (1) जनप्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा आठ के तहत आयोग घोषित किया गया है। उल्लेखनीय है कि सूरत की एक अदालत ने मोदी उपनाम संबंधी टिप्पणी को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ 2019 में एक आपराधिक मानहानि के मामले में उन्हें बृहस्पतिवार को दोषी ठहराया था। जिसमें 2 साल के कारावास की सजा और 15हजार रूपए का जुर्माना लगाया था।

 

[democracy id="1"]

Related Articles

Back to top button