Sk News Agency-UPउत्तरप्रदेशजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़राजनीतिराज्यलखनऊसराहनीय कार्य

मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए समीक्षा बैठक में अधिकारियों को लगाई फटकार।

कानून व्यवस्था पर समीक्षा बैठक 3 घंटे 10 मिनट तक चली।

Sk News Agency-UP

राजधानी  26 अगस्त 2023

ब्यूरो डेस्क—— मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को शाम 7:00 बजे से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक की जो 3 घंटे 10 मिनट तक चली।इसमें पुलिस विभाग की पुलिस कमिश्नर एवं वरिष्ठ पुलिस, अधीक्षक पुलिस अधीक्षक, क्षेत्राधिकार एवं थानेदार शामिल रहे।आपको बताते चलें कि छात्र का दुपट्टा खींचने वाली घटना का मुख्यमंत्री द्वारा सात बार जिक्र किया जाना भी अपने आप में एक महत्वपूर्ण है।इस बैठक में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निम्नलिखित निर्देश दिए –

. महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि प्रत्येक जिले में महिला थाने के अलावा एक अन्य थाना का परिवार भी महिला पुलिस अधिकारी को दिया जाए।

. मुख्यमंत्री ने गौतम बुद्ध नगर और सभी 17 नगर निगमन को सेफ सिटी के रूप में व्यवस्थित करने की कार्यवाही 14 अक्टूबर तक पूरी कर लेने के निर्देश भी दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं को 108, 1090, 181 जैसे हेल्पलाइन नंबरों के बारे में अधिक से अधिक प्रचार किया जाए, पात्र महिलाओं को पेंशन, कन्या सुमंगला, मातृत्व बंधन योजना का लाभ दिलाया  जाए।

गोकशी के मामले में हाथरस के पुलिस अधीक्षक देवेश पांडे को मुख्यमंत्री ने कड़ी फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर गोकशी नहीं होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आए हुए प्रत्येक फरियादी को सम्मान बिठाते हुए उसकी समस्या का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण किया जाए। जन समस्याएं सुनते हुए पुलिस अधिकारी का व्यवहार सौम्य सुशील रहना चाहिए।

इस उच्च स्तरीय बैठक में सरकार की अपेक्षाओं पर खरे न उतरने वाले पुलिस अधिकारियों को मुख्यमंत्री ने कड़ी फटकार भी लगाई।

ऐसा पहली बार हुआ है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा सीधे क्षेत्राधिकारी और थानेदारों के साथ जुड़कर समीक्षा बैठक की।

समीक्षा बैठक में सबसे ज्यादा नाराज मुख्यमंत्री अंबेडकर नगर की पुलिस अधीक्षक पर दिखाई दिए उन्होंने कहा कि जब तक शासन स्तर से कार्रवाई के निर्देश नहीं दिए गए तब तक क्या अपराधियों की आरती उतारी जा रही थी।

इस समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने चित्रकूट, कौशांबी, सुल्तानपुर, मिर्जापुर, अंबेडकर नगर, औरैया के पुलिस अधीक्षकों को जमकर फटकार लगाई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी हाल में महिलाओं के खिलाफ अपराध को टॉल रेट नहीं किया जाएगा।

सरकारी नंबर 24 घंटे खुले रहने चाहिए,और उस पर मिली सूचना को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण किया जाए।

मुख्यमंत्री की प्रमुख सचिव संजय प्रसाद ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने गृह विभाग के अधिकारियों के साथ  विस्तृत समीक्षा बैठक की है इसमें पुलिस के करीब 2700 अधिकारी शामिल हुए।इस बैठक में पुलिस महानिदेशक ,अपर पुलिस महानिदेशक ,पुलिस महानिरीक्षक के स्तर की अधिकारी भी मौजूद रहे।इस कानून व्यवस्था को लेकर की गई बैठक में आगे की तैयारीयों के संबंध में सभी अधिकारियों को विस्तृत दिशा निर्देश दिए गए।

 

 

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button