देशमध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश के खूबसूरत ऐतिहासिक पर्यटन स्थल एक बार अवश्य घूमने जाएं :

मध्य प्रदेश भारत के मध्य भाग में स्थित एक ऐसा खूबसूरत राज्य है,जो अपने मंदिरों,वनों और झरनों के लिए प्रसिद्ध रहा है।
भारत का यह राज्य अपनी प्राकृतिक विविधता के साथ-साथ अपनी सांस्कृतिक और पारंपरिक इतिहास के लिए प्रसिद्ध है।
हालांकि,आज हम आपको मध्य प्रदेश केखूबसूरत ऑफबीट पर्यटन स्थलों के बारे मेंबताने जा रहे हैं,क्योंकि इनके बारे में आपको शायद ही पता होगा और यहां घूमकर आपको एक अलग मज़ा आएगा।

1- असीरगढ़ किला :

असीरगढ़ किला सतपुड़ा रेंज में पहाड़ियों पर स्थित है। 15वीं सदी में इस किले का निर्माण सम्राट असी अहीर ने करवाया था। इस किले की वास्तुकला भारतीय ,अफगान,फारसी और तुर्की वास्तुशिल्प तत्वों का अनोखा मिश्रण प्रदर्शित करती है,जोकि अपने आप में ही अद्भुत है।
हालांकि,कई लोग इस पर्यटन स्थल को भूतिया मानते हैंजो इतिहास के शौकिनों को और भी ज्यादा देखने की वज़ह है।

2- केन घड़ियाल अभयारण्य :

मध्य प्रदेश के बांधवगढ़ जैसे वन्यजीव अभयारण्यों की एक विस्तृत श्रंखला है,लेकिन केन घड़ियाल अभयारण्य के बारे में लोग कम ही जानते हैं। इस अभयारण्य की स्थापना 1981 में घड़ियाल और मगरमच्छों के संरक्षण के लिए की गई थी। केन घड़ियाल अभयारण्य वन्यजीव फोटोग्राफरों और प्रकृति प्रेमियों के लिए एक आदर्श जगह है।
आप यहां आकर पन्ना के रानेह फाॅल्स का खूबसूरत नजारा भी देख सकते हैं।

3- टीकमगढ़ :

टीकमगढ़ ओरक्षा साम्राज्य का हिस्सा था। 1947 में भारत की आज़ादी तक इसे टिहरी के नाम से जाना जाता था।,जिसका अर्थ है तीधगावों का समूह होने के लिए “त्रिकोण”।
यहां से आप महेंद्र सागर झील का खूबसूरत नजारा देख सकते हैं। यह भारत की सुंदर झीलों में से एक है। गढ़ कुंदर किले के खंडहर भी यहां मौजूद है।
टीकमगढ़ की स्थापना बुंदेला वंश कै एक राजा रुद्र प्रताप ने की थी।

4- पातालकोट :

पातालकोट एक घाटी है,जो सतपुड़ा रेंज में 3000 फीट से अधिक की ऊंचाई पर स्थित है।
20 साल पहले भी इस जगह के बारे मे़ बहुत से लोग नहीं जानते थे और यह मुख्य रुप से आदिवासियों द्वारा बसाया हुआ है। ” पातालकोट ” नाम पाताल शब्द से आया है,जिसका अर्थ बहुत गहरा होता है।

5 – मांडू :

पश्चिमी मध्य प्रदेश मे़ स्थित मा़डू नामक शहर जहज महल के लिए प्रसिद्ध है। मा़डू में मौजूद इस महल का निर्माण 15वीं शताब्दी में उस समय के शासक गियास-उद्दीन खिलजी की 15,000 पत्नियों के आवास के उद्देश्य से किया गया था।
मा़डू अद्भुत प्राचीन वास्तुकला का घर भी है। यहां बता दें कि इसमें रुपमती का मंडप,बाज बहादुर का महल, मांडू किला और रीवा कुंड आदि हैं।

कुलदीप मिश्र
राज्य ब्यूरो प्रमुख
उत्तर प्रदेश

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button