Sk News Agency-UPउत्तरप्रदेशजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़मुज़फ़्फ़रनगर

भारतीय किसान यूनियन ने 14 वें धरना किया समाप्त, 20 मार्च को दिल्ली कूच का एलान।

राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में 14 दिन से धरने पर बैठे हुए थे किसान।

Sk News Agency-uttar Pradesh

जनपद-मुजफ्फरनगर

राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में भारतीय किसान यूनियन द्वारा 14दिन से चल रहे धरना को यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत द्वारा प्रशासन के आश्वासन पर आज शुक्रवार को समाप्त करा दिया गया। और आगामी 20 मार्च को दिल्ली में  कूच का ऐलान किया।यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने जमकर प्रदेश और केंद्र की सरकार पर निशाना साधा।उन्होंने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि यह सरकार अपनी आदत से बाज नहीं आएगी तो मजबूरन किसानों को बड़ा फैसला लेना होगा।बोले चुनाव के समय योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रदेश की जनता को  फ्री बिजली देने का वायदा किया गया था। मगर अब उसी प्रदेश सरकार द्वारा किसानों का बिजली बिल माफ करना तो अलग की बात रही ,उनके निजी ट्यूबवेल पर मीटर लगाकर उनसे वसूली करने के लिए जोर डाला जा रहा है।उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश के मुखिया यह भूल गए हैं कि यह कुर्सी उन्हें सिर्फ 5 वर्ष के लिए मिली है ।यदि सीधे-सीधे किसानों की बात प्रदेश के मुख्यमंत्री की समझ में नहीं आ रही है। तो फिर सत्ता से इस तरह गायब हो जाएंगे।जैसे गधे के सिर से सींग गायब हो चुके हैं।और बोले कि आवारा पशुओं द्वारा किसानों की फसलों को बर्बाद किया जा रहा है। मगर सरकार द्वारा इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। और बोले किसानों पर बेफिजूल के मुकदमे भी कायम किए जा रहे हैं। अगर मुकदमे वापस नहीं लिए गए तो इसका अंजाम बहुत बुरा होगा ।जिसकी कल्पना प्रदेश सरकार द्वारा नहीं की गई होगी।यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत के द्वारा भरी सभा में बड़ा निर्णय लेते हुए कहा गया कि उत्तर प्रदेश के किसानों की समस्या का हल हो गया है। अब दिल्ली की बारी है।मंच से एलान किया गया कि दूर दराज से महापंचायत में शामिल होने के लिए आए किसानों को रात गुजारने के लिए कहा गया है। राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से दिल्ली सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि किसानों पर हो रहे शोषण और अन्याय को तत्काल बंद कर दिया जाए।क्योंकि अब किसान चुप नहीं रहेगा।भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह ने कहा कि सरकार के एजेंडे में किसान नहीं है। अभी हाल में केंद्र सरकार ने देश का आम बजट पेश किया था उसमें सरकार ने किसान की आय बढ़ाने के लिए  बजट में कोई प्रावधान नहीं किया। जबकि केंद्र सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने का वायदा किया था लेकिन ऐसा नहीं हुआ।धरना स्थल पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन एवं एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय एवं अपर जिला अधिकारी नरेंद्र बहादुर सिंह धरना स्थल पर पहुंचे। जहां उन्होंने भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत से बातचीत की।इस दौरान एसपी सिटी ने कहा कि किसानों के रुके हुए गन्ना भुगतान कुछ किसानों को कर दिया गया है, और बाकी बचे हुए किसानों का भी भुगतान जल्द करा दिया जाएगा।वहीं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने राकेश टिकैत से धरना समाप्त करने की अपील की। जिसके बाद राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने धरना को समाप्त करने की बात कही। और जिला प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा यदि मांगे जल्दी पूरी नहीं की गई, तो फिर यहां पर इससे भी बड़ा आंदोलन भारतीय किसान यूनियन के द्वारा किया जाएगा।

शहर में रहा भीषण जाम आवागमन में जन सामान्य को रही दिक्कत।

किसान महापंचायत में शामिल होने के लिए विभिन्न जनपदों से ट्रैक्टर ट्राली के माध्यम से किसान पहुंचे थे। जिसकी वजह से शहर के राष्ट्रीय इंटर कॉलेज के मैदान में क्षमता से अधिक ट्रैक्टर ट्राली इकट्ठे हो गए। जहां राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान से लेकर मेरठ रोड, आर्य समाज रोड एवं महावीर चौक से प्रकाश चौक जाने वाले रास्ते पर ट्रैक्टर ट्राली  की लंबी-लंबी कतारें लग गई ,ट्रैक्टर ट्राली की लंबी-लंबी कतारों के कारण आवागमन रुक गया। इस दौरान आने जाने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। महापंचायत की व्यवस्था को लगाई गई फोर्स को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

पूरे मंडल के फोर्स को लगाया गया महापंचायत व्यवस्था के लिए।

महापंचायत में भारी तादात में किसानों के जमा होने की वजह से प्रशासन ने पूरे सहारनपुर मंडल की पुलिस फोर्स को इकट्ठा कर लिया था।

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button