Sk News Agency-UPकौशाम्बीजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

बिना निमंत्रण कौशांबी महोत्सव में शामिल होने जा रहीं पल्लवी पटेल को प्रशासन ने किया हाउस अरेस्ट।

महोत्सव में हंगामा न कर दें, इसके चलते किया गया हाउस।

Sk News Agency-UP

Sk News Agency-सदैव आपके मोबाइल पर

जनपद-कौशाम्बी —7मार्च 2023

कौशांबी में तीन दिवसीय कड़ा के फसहिया मैदान में कौशांबी महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। और इस महोत्सव में प्रदेश की योगी 2 सरकार में देश के गृहमंत्री बनने के बाद पहली बार जनपद में देश के गृहमंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आ रहे हैं।और उन्हीं के द्वारा इस महोत्सव का शुभारंभ हुआ है। इस मौसम में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और बृजेश पाठक के साथ-साथ प्रदेश के कई मंत्री एवं प्रदेश संगठन के नेताओं को निमंत्रण दिया गया है।आपको बताते चलें कि इस कौशांबी महोत्सव में सिराथू विधानसभा क्षेत्र की विधायक पल्लवी पटेल को निमंत्रण नहीं दिया गया।खुफिया तंत्र को रिपोर्ट मिली के सिराथू विधायक इस महोत्सव में हंगामा खड़ा कर सकती हैं। तो आनन-फानन में उप जिलाधिकारी क्षेत्राधिकारी पुलिस भारी पुलिस बल के साथ उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया गया। जिससे उनके कार्यकर्ताओं में काफी नाराजगी व्याप्त है।वही मीडिया से बातचीत करते हुए सिराथू विधायक पलवी पटेल ने कहा कि देश के गृहमंत्री का कार्यक्रम मेरे विधानसभा क्षेत्र में है ।इस वजह से मैं उस कार्यक्रम में जाना चाहती हूं ।और उनका स्वागत करना चाहती हूं लेकिन पुलिस उन्हें बाहर नहीं जाने दे रही है।लेकिन मेरे आवास के बाहर काफी संख्या में पुलिस बल लगा दिया गया है।सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने अपने घर में नजरबंद पल्लवी पटेल की तस्वीर ट्वीट करते हुए भाजपा पर निशाना साधा है अखिलेश ने लिखा कि विपक्ष की एक माननीय महिला विधायक डॉक्टर  पल्लवी पटेल को अपने विधानसभा क्षेत्र कौशांबी के स्थापना दिवस पर जनता से न मिलने देने के लिए प्रशासन द्वारा नजर बंद करना भाजपाई नकारात्मक राजनीति का बेहद संकीर्ण रूप है। कौशांबी की जनता लोकसभा चुनाव में भी भाजपा को बाहर का रास्ता दिखाएगी।आपको बताते चलें कि अपना दल (कमेरावादी) की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पल्लवी पटेल को समाजवादी पार्टी ने सिराथू विधानसभा क्षेत्र से अपना उम्मीदवार बनाया था। और उन्होंने प्रदेश के वर्तमान उपमुख्यमंत्री एवं बड़बोले नेता केशव प्रसाद मौर्या को विधानसभा में आने से रोका था। और तभी से भाजपा नेताओं एवं पलवी पटेल में तकरार चली आ रही है। और इसी का नतीजा है कि प्रशासन द्वारा भाजपा नेताओं का पिट्ठू बनकर उनको हाउस अरेस्ट किया गया है।वही हाउस अरेस्ट के बाद विधायक पल्ली पटेल ने कहा कि मुझे कौशांबी महोत्सव में शामिल होने जाना था। यह कार्यक्रम मेरे विधानसभा क्षेत्र में है। इस कार्यक्रम में गृह मंत्री अमित शाह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में शामिल होने के लिए आ रहे हैं। मुझे कानून व्यवस्था का हवाला देते हुए रोक दिया गया है बिल्कुल न्याय संगत नहीं है।गृहमंत्री का कार्यक्रम खत्म होते ही पल्लवी पटेल के घर से पुलिस  हटा लिया जाएगा।आपको बता दें कि बड़बोले नेता केशव प्रसाद मौर्य उप मुख्यमंत्री बनने के बाद अपने द्वारा छोड़ी गई सांसद की सीट को भी उपमुख्यमंत्री रहते गवा चके थे।तब उसके बाद भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें विधान परिषद का सदस्य बनाया था ।और उसके बाद 2022 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें उनके क्षेत्र सिराथू से टिकट दिया तो उनको सपा प्रत्याशी पल्लवी पटेल ने विधानसभा में जाने से रोक दिया। मगर सोचने का विषय तो यह है कि फिर से इस बड़बोले नेता को भाजपा ने उपमुख्यमंत्री बना दिया।जानकारों का कहना है कि तभी  से केशव प्रसाद मौर्य पल्लवी पटेल से राजनीतिक विरोध ना मानते हुए अपनी पर्सनल अदावत मानने लगे हैं। और आज उसी का परिणाम है कि एक माननीय विधानसभा की सदस्य को उनके घर में ही नजर कैद कर दिया गया है। और जिले में चल रहे महोत्सव का निमंत्रण नहीं दिया गया।

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button