Sk News Agency-UPअमरोहाब्रेकिंग न्यूज़राजनीतिविशेष

प्रधानमंत्री की वर्चुअल इनॉग्रेशन प्रोग्राम में बीएसपी सांसद और भाजपा एमएलसी के बीच हुई तीखी बहस।

भाजपा एमएलसी द्वारा भारत माता के जयकारे पर भड़के बसपा सांसद दानिश अली।

Sk News Agency –UP

जनपद-अमरोहा

न्यूज़ एजेंसी नैटवर्क– (ब्यूरो डेस्क) उत्तर प्रदेश के अमरोहा रेलवे स्टेशन पर  वर्चुअली इनॉग्रेशन प्रोग्राम का आयोजन किया गया था। जिसमें देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूरे देश के 508 रेलवे स्टेशनों का बर्चुअली  रैली के माध्यम से शिलान्यास किया जा रहा था। और बवाल उस समय  हो गया ,जब भारतीय जनता पार्टी के विधान परिषद के सदस्य डॉ हरी सिंह ढिल्लों द्वारा मंच पर भारत माता की जय के नारे लगाने लगे।भारत माता की जयकारे के नारे लगते ही मंच पर मौजूद बसपा के सांसद कुंवर दानिश अली मंच पर खड़े हो गए, और मंच पर बैठे लोगों पर चिल्लाने लगे।जब भाजपा नेताओं ने बसपा सांसद दानिश अली को शांत करने का प्रयास किया तो सांसद डाइस पर खड़े होकर संबोधन कर रहे विधान परिषद के सदस्य डॉ हरी सिंह ढिल्लों से जा भिड़े, और माइक छीनने की कोशिश करने लगेइस बीच बसपा सांसद और भाजपा एमएलसी की मंच पर जमकर नोकझोंक हुई और किसी ने वीडियो बनाकर वायरल भी कर दिया।जब मंच पर लगे पुलिस बल और अन्य नेताओं ने बहु मुश्किल बसपा सांसद को शांत करके मंच की कुर्सी पर बैठाया तो उसके बाद वह  झल्र्लाकर कार्यक्रम बीच में छोड़कर ही चले गए।

सांसद बोले मेरे प्रयास से स्टेशन योजना में शामिल हुए हैं

बसपा सांसद कुंवर दानिश अली का कहना है कि मेरे  पिछले 4 साल के अथक प्रयास से मेरी लोकसभा क्षेत्र में अमरोहा और गजरौला स्टेशन इस योजना में शामिल किए गए हैं । मैं उस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए गया, और बाद में अमरोहा आया। दोनों स्टेशन रीमैप कराने के लिए मैंने लोकसभा में मुद्दा उठाया था। रेल मंत्री से मिलकर भी मेरे द्वारा कई बार अनुरोध किया गया था। अमरोहा रेलवे स्टेशन और गजरौला रेलवे स्टेशन का नवीनीकरण होना तय है।उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लोग हर सरकारी कार्यक्रम को भाजपा  और आरएसएस का कार्यक्रम बनाना चाहते हैं। मैं क्षेत्रीय सांसद होने के नाते उस कार्यक्रम में मौजूद था ।यह नहीं चाहते कि हम विकास कार्य कर रहे हैं। सांसद के रूप में उसका श्रेय भी हमें मिले। यह हर सरकारी कार्यक्रम को अपनी पार्टी के कार्यक्रम में तब्दील कर रहे हैं।इनके कार्यकलापों से तो यह मालूम पड़ता है कि हमारा देश 1947 नहीं वर्ष 2014  के बाद आजाद हुआ है।उन्होंने कहा कि मेरा विवाद सिर्फ इस बात को लेकर है कि इस कार्यक्रम को भाजपा  एमएलसी अपनी पार्टी का कार्यक्रम बनाना चाहते थे जिसका मैंने विरोध किया वह सरकारी कार्यक्रम है। और उसी तरीके से प्रोटोकॉल होना चाहिए।और इसमें पार्टी गद्दारी नहीं लगनी चाहिए जो भारतीय जनता पार्टी के द्वारा यह सब किया जा रहा था।उन्होंने यह भी कहा कि भारत माता इन सबसे ज्यादा हमारी हैं, हम पांच वक्त भारत माता को सजदा करते हैं ।पांच वक्त नमाज पढ़ते हैं तो जमीन पर माथा टिकता है ।इनके कहने से होता क्या है ,हमारे पूर्वजों ने इस देश को आजाद कराया था। लाखों लोगों ने देश के लिए अपनी जान न्योछावर की थी।

भाजपा एमएलसी बोले सांसद को बड़ी सोच रखनी चाहिए

वही इस मामले में एमएलसी डॉ हरी सिंह ढिल्लो ने कहा कि सांसद को बड़ी सोच रखनी चाहिए। भारत माता की जय बोलना हमारा नारा है और यह हिंदुस्तान के लोगों का नारा है ,मैं समझता हूं बहुत ही निंदनीय बात है। भारत माता की जय बोलने पर विवाद हुआ। यह सरकारी कार्यक्रम है तो भारत माता की जय नहीं बोली जानी चाहिए क्या?यह हमारा देश है हम अपने देश से भारत माता की जय का नारा नहीं लगा सकते क्या? उन्होंने कहा कि मैंने किसी से नहीं कहा कि कोई नारा लगाए ।लेकिन जब मैंने नारा लगाया तो मंच पर मौजूद लोगों ने भी नारा लगा दिया ,इस पर विवाद ठीक नहीं है।भारत माता की जयकारे लगाना क्या कोई अपराध है। कार्यक्रम की गरिमा को बनाने की नैतिक जिम्मेदारी उनकी ज्यादा ही थी ।लेकिन उन्होंने जिम्मेदारी को तो निभाया नही उल्टा विवाद खड़ा कर दिया।

खबर- मीडिया रिपोर्ट्स एवं  न्यूज़ एजेंसी नेटवर्क के आधार पर

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button