Sk News Agency-UPउत्तरप्रदेशजनसमस्याबदायुंब्रेकिंग न्यूज़राजनीतिराज्य

प्रधानमंत्री आवास योजना में ली जा रही रिश्वत की सांसद के सामने लाभार्थी ने खोली पोल।

आवास की चाबी सौंपते हुए सांसद ने पूछा था, किसी ने पैसे तो नहीं लिए ।

Sk News Agency-UP

जनपद-बदांयू   19/जनवरी/2024

न्यूज़ एजेंसी समाज सूत्र———–भाजपा सरकार द्वारा गरीबों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों को घर आवंटित किए जा रहे हैं। और सरकार भी भ्रष्टाचार के नाम पर जीरो बैलेंस पर कार्य कर रही है। और उसका प्रचार प्रसार भी भारी भरकम तरीके से किया जा रहा है।लेकिन जनपद बदायूं में प्रधानमंत्री आवास योजना में की जा रही धांधली का एक मामला स्थानीय सांसद के सामने आ गया। और पूरे सिस्टम की पोल खोलकर लाभार्थी ने संसद के सामने रख दी।आपको बता दें कि भारत विकास संकल्प यात्रा के तहत स्थानीय सांसद  उसावां नगर पंचायत की लाभार्थी महिला शारदा देवी को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत चाबी सौंप रहे थे।चाबी सौंपते हुए सांसद ने लाभार्थी महिला से माइक पर  पूछा कि घर मिला है तो आपको कैसा लग रहा है। तो महिला ने कहा कि बहुत अच्छा लग रहा है।फिर संसद ने सवाल धागा कि किसी ने पैसे(घूस) तो नहीं लिए हैं। तो महिला ने माइक पर ही कहा कि हां 30,000 हजार रुपए मुझसे  लिए गए हैं।इस बात पर वहां मौजूद सभी लोग हंसने लगे तो । सांसद ने अधिकारियों के सामने कहा कि यह बहुत गंभीर बात है।इस दौरान मंच पर सांसद के अलावा बदायूं की संसद संघमित्रा मौर्य, पूर्व मंत्री एवं सदर विधायक महेश चंद्र गुप्ता, भाजपा जिला अध्यक्ष राजीव कुमार गुप्ता, दातागंज के विधायक राजीव कुमार सिंह सहित कई नेता और कार्यकर्ता इस दौरान मौजूद रहे।आपको बता दें कि यह घटना जब घटी वहां बड़ी संख्या में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता और आम जन मौजूद थे। और सभी हंसते हुए इस घटनाक्रम को डालने की कोशिश करते दिखाई दिए।

भ्रष्टाचार का मामला बहुत ही गंभीर है, सरकार जीरो टॉलरेंस पर काम कर रही है। हमारे द्वारा जनपद के जिलाधिकारी के संज्ञान में यह पूरा प्रकरण डाल दिया गया है ।और जिसने भी महिला से पैसे लिए हैं जांच करा कर कार्रवाई की जाएगी।(राजीव कुमार गुप्ता जिला अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी बदायूं)

खबर– न्यूज़ एजेंसी संवाद सूत्र एवं मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button