एटाब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

पूर्व विधायक अजय यादव साइकिल छोड़ हाथी पर हुए सवार।

सदर सीट से टिकट कटने के बाद लिया फैसला। सपा के राष्ट्रीय महासचिव को बताया खलनायक।


जनपद एटा

एटा सदर से विधानसभा का टिकट मांग रहे पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक अजय यादव आज बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए।उन्होंने बहुजन समाज पार्टी के अलीगढ़ मंडल की जोन कोऑर्डिनेटर रणबीर कश्यप व का बसपा जिलाध्यक्ष बलवीर सिंह की मौजूदगी में  सदस्यता ग्रहण की।उन्होंने सपा प्रत्याशी की सामने चुनाव लड़ने का एलान कर दिया। उन्होंने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव प्रोफ़ेसर राम गोपाल यादव को खलनायक तक कह दिया। उन्होंने कहा कि सपा के एक बड़े नेता ने खलनायक की भूमिका अदा की है ।और अपनी रिश्तेदारी निभाने के लिए दबाव बनाकर मेरी टिकट काटी गई है।पूर्व विधायक ने कहा कि क्षेत्र की जनता रो-रो कर कह रही थी, कि क्षेत्र के  मान- सम्मान के लिए आप चुनाव लड़ो, मगर में चुनाव नहीं लड़ा तो आने वाली पीढ़ी गालियां देगी और कहेगी कि हमारे बुजुर्गों ने अलीगंज के उन लोगों का एटा पर कब्जा करा दिया। जिन्होंने लोगों को मरबाया है, फर्जी मुकद्दमे लगवाए हैं लोग जेलों में सड़ रहे हैं ।सपा प्रत्याशी जुगेंद्र सिंह यादव ने कहा कि अजय यादव दल बदलू ,और गद्दार हैं।वह ना समाजवादी  थे और न हैं।सपा ने उनको 12बर्षों तक जिला पंचायत का अध्यक्ष बना कर रखा। मगर टिकट कट  गया तो बसपा में चले गए और लहर में जीत गए। उसके बाद उन्होंने कॉन्ग्रेस भाजपा और फिर सपा में आए। मगर समाजवादी पार्टी ने उन लोगों को टिकट दिये हैं जिन्होंने पार्टी  के लिए संघर्ष किया है। उन्होंने कहा कि  वह भाजपा के वोट काटेंगे और हमको फायदा होगा। उन्होंने  कहा कि हमारे ऊपर उन्होंने जो आरोप लगाये हैं ं यह सही निकले तो राजनीति से संयास ले लेंगे।और कहा कि उन्होंने रेवाड़ी और सकीट  में दलितों की जमीन पर अवैध कब्जा किया है। वह हाई  क्रमनल  हैं। जनता तय करेगी कौन सही और कौन गलत है। चुनौती दी के हमारे सामने चुनाव लड़ें और जीतकर दिखाएं।

[democracy id="1"]

Related Articles

Back to top button