आगराउत्तरप्रदेशउत्तराखंडएटाजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

पिलुआ में नहीं हो रही नालियों की सफाई। सफाई कर्मी नदारद।

बारिश का पानी गंदगी लेकर आ रहा है मुख्य सड़क पर। बाजार करने आ रहे लोगों को हो रही है दिक्कत।

जनपद एटा——–(पिलुआ)

जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर  एक कस्बा पिलुआ पड़ता है। जिसमें सफाई कर्मी के नदारद रहने की वजह से नालियों में गंदगी का साम्राज्य है।लोगों का कहना है कि यहां सफाई कर्मचारियों के कभी दर्शन नहीं होते हैं।और उच्चाधिकारियों की सांठगांठ से सफाई कर्मियों का वेतन निकल रहा है।वैसे तो कस्बा पिलुआ को पूर्व में जनपद के मुख्य विकास अधिकारी द्वारा गोद लिया हुआ गांव है। और कस्बे की सभी गलियां सीसी युक्त हैं। और सफाई कर्मचारियों के ना आने की वजह से नालियों में गंदगी का साम्राज्य है।नालियों की सफाई ना होने की वजह से नालियों में  कचड़ा, और गंदगी भरी हुई है। जो बरसात के पानी की अधिकता होने की वजह से  ऊपर निकलकर मुख्य सड़क पर आकर जमा हो रही है। मुख्य सड़क पर कोई नाली का निर्माण ना होने की वजह से यह सभी कीचड़ और गंदगी बाजार में आकर बह रहा है।  कस्बे में ग्रामीण बैंक,केनरा बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, सहकारी बैंक ,प्राथमिक स्वास्थ्य, क्षेत्रीय साधन सहकारी समिति पर क्षेत्रीय लोग अपने-अपने कार्य से साइकिल और मोटरसाइकिल से आते हैं। जो इस गंदगी में फिसलने की वजह से गिर गिर गिर कर चोटिल हो रहे हैं।और उन्हें काफी दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं।मगर जिम्मेदार आज भी इस समस्या से अंजान बने हुए हैं।और मलाई काट रहे हैं लोगों की समस्या से उनका कोई लेना-देना नहीं है।जनपद के जिला अधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी से मुख्य सड़क सड़क पर नालियों का निर्माण एवं गलियों की सफाई के लिए लगाई गई सफाई कर्मचारियों के वेतन रोक कर दंडात्मक कार्रवाई की मांग की है। और जल्द से जल्द इस समस्या के निराकरण की मांग की है।

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button