Sk News Agency-UPउत्तरप्रदेशकानपुरजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़राजनीतिविशेष

पहली जनवरी से सड़क पर नहीं दिखेंगे आवारा गोवंश: पशुपालन मंत्री

पशुपालन मंत्री ने अधिकारियों को दी चेतावनी,नई साल में सड़क पर ना दिखें आवारा गोवंश।

Sk News Agency-UP

जनपद- कानपुर 

न्यूज एजेंसी संवाद सूत्र——-प्रदेश के पशुधन एवं दुग्ध विकास मंत्री धर्मपाल सिंह जी कानपुर की सर्किट हाउस में समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि अभियान चलाकर 31 दिसंबर तक हर हाल में सड़क पर घूम रही गोवंशों को आश्रय स्थल में भेजने का प्रबंध करें।उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि याद 31 दिसंबर के बाद 1 जनवरी को यदि कोई गोवंश सड़क पर दिखा तो सीधे काजी हाउस भेजा जाएगा।उन्होंने कहा कि अगर मवेशियों ने किसी किसान की फसल को खराब किया तो भरपाई पशुपालक से की जाएगी।उन्होंने आगे निर्देश देते हुए कहा कि यदि को आश्रय स्थल में अगर कोई गोवंश भूख व जाड़े से मरता है ,तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।उन्होंने मीडिया से  कहा कि कानपुर जिले में करीब 5000 गोवंश छोटा घूम रहे हैं इनमें से 900 गोवंश को गो आश्रय स्थल पहुंचा जा चुका है।

सड़क पर घूम रहे आवारा गोवंश-Sk News Agency

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जनपद के ऐसे प्रमुख स्थलों का चिन्हांकन किया जाए जहां स्थाई गौशाला का निर्माण कराया जा सके।मंत्री को जब जब यह जानकारी दी गई की भूसा सप्लाई कर रही कंपनी द्वारा कई विकासखंडों में भूसा नहीं पहुंचाया गया है तो उन्होंने कहा कि कंपनी को ब्लैक लिस्टेड किया जाए।उसे कंपनी के खिलाफ कार्रवाई होगी। सिर्फ तीन ब्लाकों में कैटल कैचिंग वाहन होने पर मंत्री ने कहा कि वाहन को किराए पर लेने और खरीदने की अनुमति दी जा चुकी है।आपको बता दें कि समीक्षा बैठक में मंत्री के होने के बावजूद संबंधित अधिकारियों ने लापरवाही बरती। मंत्री की समीक्षा के लिए बनी बुकलेट को आने में देरी होने पर डीडीओ की बुकलेट से समीक्षा की गई।इसके लिए मंत्री ने बैठक में मौजूद मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को जमकर लताड़ा।समीक्षा बैठक से बिल्हौर के पशु चिकित्सा अधिकारी बिना जानकारी दिए गायब हो गए थे।उनका इस स्पष्टीकरण लेने का निर्देश दिया।पशुधन मंत्री ने मीडिया को बताया कि शहर में वक्फ की कई संपत्तियों पर अवैध कब्जे कर लिए गए हैं। उन पर अवैध निर्माण कर लिया गया है। उनकी जांच कराकर कब्जदारों को हटाया जाएगा। संपत्तियों पर पार्क और अन्य सुविधाएं देकर लोगों को लाभान्वित किया जाए।इस बैठक में विधायक नीलिमा कटियार, मुख्य विकास अधिकारी सुधीर कुमार और जिला पंचायत राज अधिकारी कमल किशोर सहित सभी अधिकारी मौजूद रहे।आपको बताते चलें कि मंत्री धर्मपाल सिंह वह मंत्री हैं प्रदेश सरकार में जो शपथ लेने के बाद से ही लगातार आवारा गोवंश ना घूमने की बात कर रहे हैं। मगर कार्यवाही अमल में नहीं लाई जा रही है।आवारा गोवंश किसानों की फसलों को तो नष्ट कर ही रहे हैं,सड़कों पर आ जाने से दोपहिया वाहन सवार एवं बड़े वाहनों से लगातार हादसे  हो रहे हैं।देखने का विषय तो यह होगा कि अब मंत्री जी के निर्देश नव वर्ष में कितने लागू होते हैं।

खबर—न्यूज़ एजेंसी श्यामनाथ सूत्र एवं मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button