Sk News Agency- Delhiजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

दिल्ली जंतर मंतर महिला महापंचायत में जा रहे किसान नेता राकेश टिकैत सहित कई राजनेताओं को रोका।

पहलवानों सहित प्रदर्शनकारी लिए गए हिरासत में, टेंट उखाड़ कर फेंके गए।

Sk News Agency-UP

आपकी प्रिय न्यूज़ एजेंसीSknewsagency.com

दिल्ली जंतर मंतर पर 35 दिन से धरना प्रदर्शन कर रहे पहलवानों महिला सम्मान महापंचायत का ऐलान किया था। इस महापंचायत के माध्यम से खुफिया सूचना मिली के यह सभी पहलवान और प्रदर्शनकारी  मिलकर नए संसद भवन की ओर कूच कर रहे हैं। तो पुलिस ने आनंद फानन में सभी प्रदर्शन कार्यों को हिरासत में ले लिया ,और उनके टेंट और तंबू को भी उखाड़ कर फेंक दिया गया।आपको बताते चलें कि नई संसद भवन के उद्घाटन के मौके पर प्रदर्शनकारियों ने महिला महापंचायत का ऐलान किया है। जिसके लिए पहलवानों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी थी।आपको बता दें कि पुलिस दिल्ली ने सीमा जी सुरक्षा बढ़ा दी है। वही खाप पंचायत के आव्हान पर महिला महापंचायत में शामिल होने के लिए दिल्ली की सीमा पर लोग पहुंचने लगे हैं जिन्हें पुलिस रोककर हिरासत में ले रही है।जिसकी वजह से सड़कों पर जाम की समस्या पैदा हो गई है। और आवागमन थम सा गया है। दिल्ली पुलिस जाम को खुलवाने के लिए काफी मशक्कत कर रही है।आपको बता दें कि प्रदर्शनकारियों के संसद की ओर कूच करने की सूचना पर दिल्ली पुलिस की 25 कंपनी और रैपिड एक्शन फोर्स की छह कंपनियां  सहित  करीब 30 कंपनियां पुलिस बल की तैनाती की गई थीं।

इनको पुलिस ने जंतर मंतर पर जाने से रोका और लिया हिरासत में

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों को दिल्ली पुलिस ने गाजीपुर की सीमा पर रोक लिया। वह भी नहीं संसद भवन के बाहर आंदोलनकारी पहलवानों द्वारा बुलाई गई विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के लिए दिल्ली में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे थे। उन्होंने घोषणा की  कि जब तक पहलवानों को रिहा नहीं किया जाता है ।तब तक वो धरने पर ही बैठे रहेंगे ।उन्होंने यह भी कहा कि यहीं बैठ कर आगे की रणनीति पर विचार किया जाएगा।

समाजवादी पार्टी के सरधना विधानसभा क्षेत्र से विधायक अतुल प्रधान को पुलिस ने हाउस अरेस्ट कर लिया। वह भी प्रदर्शनकारियों को समाजवादी पार्टी की ओर से प्रदर्शनकारियों को अपना समर्थन देने जा रहे थे।

दिल्ली पुलिस ने महिला पहलवानों को घसीट घसीट कर जबरदस्ती हिरासत में लिया जिससे महिला पहलवानों में रोष फैल गया।

दिल्ली पुलिस ने कुछ मीडिया कर्मियों को भी हिरासत में ले लिया है।

जंतर मंतर पर धरना दे रहे पहलवानों के समर्थन में जवाहरलाल नेहरू  विश्वविद्यालय के गेट के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्रों सहित अन्य को पुलिस ने करीब पांच दर्जन को हिरासत में लिया है।

दिल्ली पुलिस ने मीडिया को बताया कि पहलवानों ने धारा 144 का उल्लंघन किया है। हम प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं देंगे।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने पहलवानों को हिरासत में लेने और प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज की कड़ी निंदा की है। उन्होंने ऐसी सरकार का अहम करार दिया है।

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर हमला बोला। उन्होंने ट्वीट किया, राज्याभिषेक को पूरा हुआ -‘अहंकारी राजा’ सड़कों पर कुचल रहा जनता की आवाज’

कांग्रेस सहित कई विपक्षी पार्टियों के राजनेताओं ने पहलवान पर हुई इस कार्यवाही की घोर निंदा की है।

 

[democracy id="1"]

Related Articles

Back to top button