पंजाबब्रेकिंग न्यूज़
Trending

तीन दिन पहले चोरी हुई रायफल से सो रहे जवानों पर फायरिंग,चार की मौत!

ख़बरों की ख़बर

बठिंडा मिलिट्री बेस से चोरी ग ई इंसास रायफल से बुधवार सुबह करीब 4.30 बजे मेस की बैरक में सो रहे सेना के 4 जवानों की दो नकाब पोश हमलावरों ने गोलियां बरसाकर हत्या कर दी।
हमलावर कौन थे,कहां से आए थे और किस उद्देश्य से जवानों की हत्या की,इसके बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिली। बठिंडा पुलिस ने इसे आतंकी हमला मानने से इंकार कर आशंका जताई कि यह किसी भेदी का काम हो सकता है। पुलिस और सेना के अधिकारी अपने-अपने स्तर से जांच कर रहे हैं।


शुरुआती जांच में पता चला है कि 9 अप्रैल को चोरी हुई इंसास रायफल से ही हमलावरों ने इस नृशंस घटना को अंजाम दिया। रायफल के साथ 28 राउंड कारतूस भी चोरी हुए थे,जिनके खोखा (खोल) घटना स्थल पर मिले हैं।
सेनाध्यक्ष जनरल मनोज पांडे ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को इस घटना की जानकारी दी है। पुलिस जांच के अलावा कोर्ट ऑफ इंक्वायरी (सीओआई) भी की जाएगी।


हमले में मारे गए चारों जवानों की पहचान 80 मीडियम रेजीमेंट के गनर सागर बन्ने,योगेश कुमार,कमलेश और संतोष के रुप में हुई है। इनमें दो जवान कर्नाटक और दो जवान तमिलनाडू के निवासी हैं। उनके परिजनों को सूचित कर दिया गया है।

सफेद कुर्ता-पैजामा पहने हुए दो नकाबपोशों के एक के हाथ में इंसास रायफल और दूसरे के हाथ में कुल्हाड़ी थी

सैन्य अधिकारियों के मुताबिक नकाबपोश हमलावर सफेद कुर्ता-पैजामा पहने हुए थे और घटना को अंजाम देने के बाद जंगल की ओर भाग गए। हमलावरों में एक के हाथ में इंसास रायफल और दूसरे के हाथ में कुल्हाड़ी थी। छावनी में रहने वाले लोगों से अपने घरों में रहने को कहा गया है। घटना की एफआईआर रेजीमेंट के मेजर आशुतोष शुक्ल द्वारा दर्ज कराई गई है।
इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद सवाल उठता है कि जबकि यह मिलिट्री स्टेशन पाकिस्तान की सीमा से सटा हुआ,अति सुरक्षा चक्रों से घिरा और अति संवेदनशील होने के बावजूद हमलावर वहां कैसे दाखिल हुए जबकि वहां गश्त चलती रहती है।

कुलदीप मिश्र
राज्य ब्यूरो प्रमुख
उत्तर प्रदेश

 

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button