आगराइटावाएटाकासगंजखेलधर्मब्रेकिंग न्यूज़मनोरंजनमैनपुरीराजनीतिविश्वव्यापारशिक्षा

गाबा टेस्ट के बीच में दुकान पर जाकर खरीदना पड़ा, ऑस्ट्रेलिया टीम ने भी देने से मना कर दिया था

वॉशिंगटन सुंदर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिस्बेन टेस्ट की पहली पारी में 62 और दूसरी पारी में 22 रन की जरूरी पारी भी खेली थी।

टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में टेस्ट सीरीज हराकर इतिहास रच दिया। आखिरी और चौथे टेस्ट में जीत के हिरो रहे वॉशिंगटन सुंदर को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। टीम इंडिया के फील्डिंग कोच आर श्रीधर ने कहा कि गाबा टेस्ट वॉशिंगटन का डेब्यू मैच रहा। इस मुकाबले में उनके पास सफेद पैड नहीं थे। इस कारण सभी को काफी परेशान होना पड़ा।

श्रीधर ने कहा, ‘‘वॉशिंगटन के पास मैच में बैटिंग के लिए सफेद पैड नहीं थे। वे नीले पैड पहनकर नेट प्रैक्टिस कर रहे थे।’’

सभी के पैड वॉशिंगटन को छोटे पड़ रहे थे
फील्डिंग कोच ने कहा, ‘‘हमने काफी कोशिश की, लेकिन लंबे कद के वॉशिंगटन के लिए पैड्स मिलना मुश्किल हो रहा था। हमने ऑस्ट्रेलियाई टीम से भी मदद मांगी, लेकिन उन्होंने कोरोना के कारण पैड देने से मना कर दिया। गाबा टेस्ट शुरू होने के बाद हम दुकान पर गए और पैड खरीदकर ला सके।’’

अश्विन के चोटिल होने के बाद वॉशिंगटन को मौका मिला
दरअसल, वॉशिंगटन को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टी-20 सीरीज के लिए भारतीय टीम में चुना गया था। इस सीरीज के बाद मैनेजमेंट ने वॉशिंगटन को टेस्ट सीरीज में नेट बॉलर के लिए रोक लिया था। तीसरे टेस्ट में स्पिनर रविचंद्रन अश्विन चोटिल हो गए थे। इसके बाद चौथे टेस्ट में वॉशिंगटन को मौका मिला।

इस मैच में उन्होंने 4 विकेट लिए। उन्होंने स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर को आउट किया। वॉशिंगटन ने पहली पारी में 62 और दूसरी पारी में 22 रन की जरूरी पारी भी खेली थी।

admin

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button