Sk News Agency-UPउत्तरप्रदेशब्रेकिंग न्यूज़मेरठराजनीतिविशेष

कावड़ यात्रा पर आतंकी हमले का इनपुट हेलीकॉप्टर से होगी निगरानी।

पूरे कावड़ यात्रा रूट पर है खुफिया तंत्र और पुलिस की पैनी नजर।

SNews Agency –UP

जनद -मेठ 

सावन मास में चल रही कावड़ यात्रा का हिंदू धर्म में बहुत बड़ा महत्व है। और दूर दूर से चलकर भगवान शंकर के वक्त कावड़ लेकर अपने कर्तव्य को रवाना हो रहे हैं।मगर इस कावड़ यात्रा पर भी आतंकी साया मंडरा रहा है।आतंकी हमले का इनपुट मिलने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार चौकन्ना हो गई है।कावड़ यात्रा पर आतंकी हमले का इनपुट मिलने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश पर उत्तर प्रदेश की पुलिस और खुफिया विभाग अलर्ट हो गया है।और पुलिस नहीं कावड़ यात्रा रूट पर मुकम्मल व्यवस्था कर रखी है।कावड़ यात्रा मार्ग पर ड्रोन और हेलीकॉप्टर से निगरानी की जाएगी।हेलीकॉप्टर उपलब्ध कराने के लिए प्रशासन द्वारा पहले ही शासन को पत्र लिखा जा चुका है। और देरी है तो हेलीकॉप्टर मिलने की।मिली जानकारी के अनुसार जनपद की यात्रा रूट पर 2500 पुलिसकर्मी और इंटेलिजेंस अधिकारियों की भी कावड़ियों की सुरक्षा में तैनाती की गई है।मिली जानकारी के अनुसार कावड़ यात्रा के लिए बनवाई गई पुस्तिका में भी पुलिस ने आतंकी इनपुट का चित्र किया है दूसरे जिले के पुलिस अधिकारियों से भी लगातार मेरठ पुलिस संपर्क कर रही है।कावड़ यात्रा को सुरक्षित  सकुशल संपन्न कराने के लिए जनपद को 6सुपर जोन 22जोन के अलावा 62 सेक्टरों में विभाजित किया गया है।इसके लिए पुलिस के साथ ही साथ 8 कंपनी पीएसी एवं अर्धसैनिक बलों को भी तैनात किया गया है। खुफिया विभाग के करीब 10 दर्जन अधिकारी एवं जवानों को भी अति संवेदनशील स्थानों पर नियुक्त किया गया है। जो पल पल की जानकारी प्रशासन को दे रहे हैं।कानून व्यवस्था की स्थिति प्रभावित होने पर तुरंत एक्शन लिया जा सके। इसके लिए एसएसपी ने थाना प्रभारियों का एक व्हाट्सएप ग्रुप भी बनवाया है। और   जिसमें ड्यूटी पर लगे सभी अधिकारियों को सम्मिलित किया गया है।कोई भी  सूचना होने पर कुछ ही पलों में सूचना जनपद के कोने कोने पर पहुंचाई जा सकेगी। और उस पर तत्काल एक्शन लिया जा सकेगा।इसके अलावा डायल 112 की गाड़ियां को भी अलर्ट मोड पर रहने को कहा गया है।वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह सजवाण ने रेलवे स्टेशन, बस अड्डे, मॉल आदि पर कड़ी निगरानी रखने के भी निर्देश जारी किए हैं।और वहां पर सादा पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए हैं। ताकि किसी तरह की कोई बाधा उत्पन्न ना होने पाए।जनपद के ओगड़नाथ मंदिर पर विशेष निगरानी बरतने की सख्त निर्देश दिए गए हैं साथ ही कांवड़ शिविरों में पुलिसकर्मियों की तैनाती कई गई है और वह सादा वर्दी में भी तैनात रहेंगे।

खबर —न्यूज़ एजेंसी नेटवर्क और मीडिया रिपोर्ट के आधार पर

 

 

 

 

[democracy id="1"]

Related Articles

Back to top button