Sk News Agency-UPएटाब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

एटा के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव गिरफ्तार।

गैंगस्टर एक्ट के तहत किया गिरफ्तार, 25हजार का था नाम घोषित।

Sk News Agency—UP

SK News–सदैव आपके मोबाइल पर

जनपद–एटा 

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने समाजवादी पार्टी के एक और नेता पार सिकंजा कस  दिया है जिसमें जनपद एटा दे पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रहे जुगेद्र सिंह यादव को  गेंगस्टर एक्ट के एक मामले में गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। जिन पर ₹25000 का इनाम घोषित था।आपको बताते चलें की जुगेंद्र सिंह यादव की गिनती सपा के कद्दावर नेताओं में होती है, उन की धमक सैफई परिवार तक है। प्रशासन द्वारा उनकी कही संपत्तियों पर बुलडोजर की कारवाई भी लगातार चलती रही है, लेकिन जुगनू सिंह यादव फरार ही  रही रहे। वर्ष 2017 और 2022 का विधान सभा चुनाव एटा सदर विधानसभा सीट से लड़ चुके हैं। और उनके भाई पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है ।जो कि अलीगंज विधानसभा क्षेत्र से कई बार विधायक रह चुके हैं। वर्तमान में जुगेंद्र सिंह यादव की पत्नी जनपद एटा की जिला पंचायत  अध्यक्ष हैं ।जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी को तगड़ी धूल चटा कर यह पद हासिल किया था।जुगेन्द सिंह के साथ यह परिस्थितियां नई नहीं है ।इससे पहले भी बसपा सरकार और अब भाजपा सरकार में शिकंजा कसता रहा है। और हर बार जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर अपना कब्जा किया है।  और सत्ताधारी पार्टी को हमेशा धूल चटाई है।इस बार तो बंपर जीत के साथ जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर कब्जा किया था ।जिसमें केवल दो जिला पंचायत मेंबर सत्ताधारी पार्टी के थे और बाकी सब जुगेंद्र सिंह यादव के थे। और इससे पहले भी बहुजन समाज पार्टी के शासनकाल में प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री ने भी एड़ी चोटी का जोर लगा लिया था ।मगर जिला पंचायत अध्यक्ष का पद  जोगिंदर सिंह यादव के ही खाते में रहा।वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उदय शंकर सिंह ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि सपा के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जोगद्र सिंह यादव को जनपद की एसओजी टीम मथुरा के जैत क्षेत्र से गिरफ्तार करके लाई है। उन्होंने कहा कि गैंगस्टर एक्ट से जुड़े मामले में वांछित जुगेंद्र सिंह को गिरफ्तार करने के बाद एटा कोतवाली लाया गया। जहां से कानूनी प्रक्रिया को पूरा कर उन्हें जेल भेज दिया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि एटा जिले में 86 मुकदमे यादव के खिलाफ पंजीकृत हैं। वह लंबे समय से गैंगस्टर एक्ट के मामले में नामजद थे ।और 1 सप्ताह पहले ही उन पर 25हजार रूपए का इनाम घोषित किया गया था ।गिरफ्तारी के समय वह कार द्वारा मथुरा से नोएडा जा रहे थे। वहां से वह दक्षिण भारत के किसी प्रदेश में भागने की फिराक में थे। तब तक सटीक सूचना के आधार पर गिरफ्तार कर लिया गया ।

इस मामले में चल रहे थे फरार

वर्ष 2021 में जुगेंद्र सिंह यादव पर एक महिला ने अपने बेटे पर जानलेवा हमले और लूटपाट करने का आरोप लगाया था। महिला ने अपनी शिकायत में कहा था कि 2 जून 2021 को वह अपने बेटे के साथ दवाई लेने जा रही थी ।तभी घात लगा कर दो गाड़ियों में आए हमलावरों ने उन पर हमला कर दिया ।और बेटे को गाड़ी में डालकर पिटाई की ,और जब महिला द्वारा विरोध किया गया तो उस पर भी फायर किया और पर्स में रखे पैसे लूट लिए गए। इस मामले में विवेचना की गई जिसके बाद चार्जशीट दाखिल की गई थी। इसके बाद जोगेंद्र सिंह को कई बार नोटिस दिया गया था। लेकिन वह सामने नहीं आए ।पुलिस ने थक हार कर सपा नेता पर ₹25000 का इनाम घोषित किया था।

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button