Sk News Agency-UPअलीगढ़जनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़विशेषसराहनीय कार्य

एंटी करप्शन टीम ने 10000 की रिश्वत लेते दरोगा को रंगे हाथ पकड़ा।

धाराएं कम करने के लिए मांगे थे रुपए।

Sk News Agency-UP

जनपद –अलीगढ 

न्यूज एजेंसी नेटवर्क ——-प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार आदेश कर रहे हैं कि हमारी सरकार में दलाल और दलाली बिल्कुल समाप्त कर दी गई है।और भ्रष्टाचार के नाम पर हमारी सरकार जीरो टॉलरेंस पर कम कर रही है।मगर कुछ कर्मचारी ऐसे भी मौजूद हैं, जो बिना रिश्वत लिए जनता जनार्दन का काम करना अपनी तोहीन समझते हैं।शनिवार को जनपत के थाना गांधी पार्क में तैनात दरोगा को एंटी करप्शन ने₹10000 की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया।और यह दरोगा  महोदय पीड़ित के मुकदमे को हल्का करने और गंभीर धाराएं हटाने के नाम पर रिश्वत ले रहे थे।रिश्वत तय होने के बाद पीड़ित ने एंटी करप्शन में शिकायत दर्ज कराई थी। और उसके बाद एंटी करप्शन ने दरोगा को रंगे हाथ पकड़ने की सारी प्लानिंग कर ली थी ।और शनिवार को रंगे हाथ पीड़ित के किराए के मकान पर  ₹10000 की रिश्वत लेते हुए दबोच लिया।आपको बता दें कि उप निरीक्षक राम वीरेश यादव थाना गांधी पार्क में तैनात है।और कुछ दिनों पहले थाना गांधी पार्क क्षेत्र में कमलपुर स्थित न्यू गुरु गोरखनाथ  अस्पताल में घुसकर मारपीट हुई थी।जिसमें अस्पताल के संचालक दो लोगों के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कराया था।जिसमें बताया गया कि गांधी पार्क थाना क्षेत्र के युवक को 2लाख 20 हजार रुपए दिए थे ।युवक ने नियत समय पर रुपए लौटाने का वायदा किया था। लेकिन 13 जून को उसने अपने भाई के साथ मिलकर उसके अस्पताल में जिस समय रामायण पाठ के बाद प्रसाद वितरण हो रहा था। तो उसी समय मारपीट की थी।इसमें अंगूठी और कीमती चीज छीलने का भी आरोप लगाया गया था।पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर आरोपियों के खिलाफ अभियोग पंजीकृत किया था ।तहरीर  के आधार पर पुलिस ने अमानत में खयानत, मारपीट, धमकी देने की धारा में अभियोग पंजीकृत किया था।जिसकी विवेचना दरोगा रामवीर यादव कर रहे थे।पीड़ित उदय प्रताप सिंह ने एंटी करप्शन थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराई कि दरोगा रामवीरेश यादव उससे धाराएं हटाने के नाम पर रुपए की मांग कर रहे हैं।उसके बाद एंटी करप्शन आगरा की टीम को भी बुला लिया गया। और दरोगा को पीड़ित उदय प्रताप सिंह के महुआ खेड़ा थाना क्षेत्र के ओजोन सिटी स्थित किराए के मकान पर रिश्वत के रुपए के साथ रंगे हाथों पकड़ लिया।और उसके बाद आगरा एंटी करप्शन टीम के प्रभारी राज किशोर सिंह ने शनिवार को ही सिविल लाइंस थाने में अभियोग पंजीकृत कराया  करा दिया था।सूचना मिलते ही जनपद के तेज तर्रार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कला निधि नैथानी ने दरोगा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था।और उसके बाद मेरठ स्थित एंटी करप्शन कोर्ट में हाजिर कर उसके खिलाफ चार सीट दाखिल की गई और जेल भेजने की कार्रवाई की गई।आपको बताते चलें कि पहले आगरा में ही एंटी करप्शन टीम थी और अब जनपद अलीगढ़ में भी कुछ महीनो पूर्व ही एंटी करप्शन थाना खोला गया है। और इस थाने द्वारा यह रिश्वतखोर को पकड़ने की दूसरी कार्यवाही है।

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button