Sk News Agency-UPउत्तरप्रदेशजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़राजनीतिराज्यलखनऊविशेषसराहनीय कार्य

उत्तर प्रदेश के टॉप 10 मोस्टवांटेड अपराधियों की लिस्ट जारी।

जिला पुलिस और स्पेशल टास्क फोर्स के रडार पर हैं यह अपराधी।

Sk News Agency-UP

न्यूज एजेंसी नेटवर्क/लखनऊ

उत्तर प्रदेश पुलिस ने प्रदेशभर के मोस्ट वांटेड अपराधियों की लिस्ट जारी की है और उत्तर प्रदेश पुलिस इनको हर हाल में गिरफ्तार करना चाहती है।विधानसभा के बजट सत्र के दौरान प्रदेश में माफिया और अपराधियों के मुद्दे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और नेता विपक्ष अखिलेश यादव के बीच काफी गहमागहमी देखने को मिली थी।जिसमें अखिलेश यादव मुख्यमंत्री की भाषा शैली कि “माफियाओं को मिट्टी में मिला देंगे” उसी पर अखिलेश यादव ने लिस्ट जारी करने की मांग की थी।मगर मुख्यमंत्री तो लिस्ट जारी नहीं कर पाए ।उससे पहले ही अखिलेश यादव ने एक लिस्ट जारी की, जिसमें ऐसे अपराधियों के नाम शामिल थे जिनके  ऊपर कई कई दर्जन मुकदमा पंजीकृत थे। और सत्ताधारी पार्टी का होने के कारण गिरफ्तारी से बचे हुए थे ।और कार्यवाही नहीं हो रही थी।मगर विडंबना यह रही कि जो अब लिस्ट जारी की गई है उत्तर प्रदेश पुलिस की ओर से उसमें सत्ताधारी पार्टी के अपराधी राजनेताओं के नाम नहीं है।आपको बताते चलें कि उत्तर प्रदेश सरकार पर अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या के बाद विपक्षी नेताओं द्वारा लगातार उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर अल्पसंख्यक  विरोधी होने का लगातार आरोप लगाए जा रहे हैं।मगर जो पुलिस ने लिस्ट जारी की है उसमें हर बिरादरी का अपराधी है जो निम्न प्रकार से है—–

1.लखनऊ जोन के अपराधी

अजय प्रताप सिंह उर्फ अजय सिपाही, संजय सिंह सिंघाला, मोहम्मद सहीम उर्फ कासिम, खान मुबारक, अतुल वर्मा

2. प्रयागराज जोन के अपराधी

गुड्डू सिंह ,अनूप सिंह, डब्बू सिंह उर्फ प्रदीप सिंह, सुधाकर सिंह

3.वाराणसी जोन के अपराधी

विजय मिश्रा, मुख्तार अंसारी, त्रिभुवन सिंह उर्फ पवन सिंह ,ध्रुव सिंह उर्फ कुंटू सिंह ,रमेश सिंह उर्फ काका, अखंड प्रताप सिंह

3. गोरखपुर जोन के अपराधी

राकेश यादव, संजीव द्विवेदी उर्फ रामू द्विवेदी, सुधीर कुमार सिंह, राजन तिवारी, विनोद कुमार उपाध्याय ,रिजवान जहीर, देवेंद्र सिंह

1 कमिश्नरेट कानपुर के अपराधी

साउद अख्तर

2. कमिश्नरेट प्रयागराज के अपराधी

दिलीप मिश्रा ,बच्चा पासी उर्फ निहाल पासी, जावेद उर्फ पप्पू, राजेश यादव, गणेश यादव, जावेद हुसैन, कमरुल हसन, मुजफ्फर

3.कमिश्नरट लखनऊ के अपराधी

बच्चू यादव, जुगनू बलया और हरविंदर सिंह , लल्लू यादव

4. कमिश्नर रेट वाराणसी के अपराधी

बृजेश कुमार सिंह, सुभाष सिंह ठाकुर ,अभिषेक सिंह हनी उर्फ जहर

5.कमिश्नर जीत गौतम बुद्ध नगर की अपराधी

अमित कसाना, अनिल भाटी, सुंदर भाटी ,मनोज उर्फ आशे, सिंह राज भाटी, रणदीप भाटी,  अनिल दुजाना

इन सभी सूचीबद्ध अपराधियों की गतिविधियों पर स्पेशल टास्क फोर्स और जिला पुलिस  कड़ी निगरानी रख रही है। शासन स्तर से पहले अनुमोदित 25 सूचीबद्ध माफियाओं में मुख्तार अंसारी, बृजेश सिंह, त्रिभुवन सिंह उर्फ पवन सिंह, संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा, ओमप्रकाश श्रीवास्तव उर्फ बबलू, सुशील उर्फ मूंछ, सीरियल किलर सलीम, रुस्तम, सोहराब समेत अन्य कई कुख्यातों के नाम शामिल हैं।मोस्ट वांटेड क्रिमिनल उनके नाम और पता और इनाम निम्न है——1.विवेक कुमार———- बुलंदशहर —–50,000

2. सलीम मुख्तार सेख–* लखनऊ—— 50,000

3. संजीव नाला——मुजफ्फरनगर——– 50,000

4. विश्वास नेपाली——बाराणसी———— 50,000

5. सुनील यादव——- वाराणसी————– 50,000

6. सुनील महकर सिंह—— सहारनपुर——– 50,000

7. राम नरेश ठाकुर—–आगरा —————–50,000

8. अजीम अहमद ——–वाराणसी ———-50,000

9. मनीष सिंह———- वाराणसी————- 50,000

10. बाहर उर्फ बहारुद्दीन—— कौशांबी——–50,000

11. रूद्रेश उपाध्याय उर्फ पिंटू—– भदोही—–50,000

12. आफताब आलम—— प्रयागराज——— 50,000

13.शिवाबिंद उर्फ शिवशंकर–बिंद गाजीपुर—50,000

14 दिनेश कुमार सिंह—-रायबरेली———-1,50,000

15. साबुद्दीन ———–गाजीपुर————–2,00,000

16.अताउर्रहमान उर्फ सिकंदर–गाजीपुर—2,00,000

17. हरीश———— मुजफ्फरनगर———- 2,00,000

18. सुमित ————-मुरादाबाद————2,00,000

19. मनीष सिंह सोनू——— वाराणसी—- 2,00,000

20.बदन सिंह बद्दो———— मेरठ——— 2,50,000

21. राघवेंद्र यादव—– गोरखपुर————2,50,000

22.आदित्य राण———- बिजनौर ———-2,50,000

23. रामचरण उर्फ बोरा—बाराबंकी——– 3,00,000

24. राशिद नसीम———–लखनऊ——– 5,00,000

25. दीप्त बहल———— गाजियाबाद—–5,00,000

26 विजेंद्र सिंह हुड्डा———– मेरठ——– 5,00,000

27.भूदेव ————– बुलंदशहर———– 5,00,000

नोट—आपको बता दें कि यह लिस्ट पूरी नहीं लगती  यदि विपक्ष के नेताओं  द्वारा दी गई लिस्ट को भी शामिल किया जाता।क्योंकि जो लिस्ट विपक्षी नेताओं द्वारा जारी की गई है ,उसमें किसी भी अपराधी  पर एक दर्जन से कम अभियोग पंजीकृत नहीं हैं।कार्यवाही हो तो पक्ष- विपक्ष को एक आंख से देखा जाए ।और दनांदन कार्यवाही की आस में जनता जनार्दन एकटक आंख लगाए देख रही है।

 

 

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button