Sk News Agency-UPअलीगढ़एटाग्रामीण समस्याजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़राजनीतिसराहनीय कार्य
Trending

ईवीएम की सुरक्षा के लिए सपा प्रत्याशी के समर्थकों ने मंडी परिसर में डाला डेरा।

अलग-अलग पालियों में लगाई गई है कार्यकर्ताओं की ड्यूटी।

Sk News Agency-UP

जनपद –कासगंज

न्यूज़ एजेंसी संवाद सूत्र——————-बेईमानी की आशंका के चलते समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी के समर्थकों ने मंडी परिसर में ईवीएम की सुरक्षा के लिए डेरा जमा लिया है।सपा कार्यकर्ता और समर्थक ईवीएम की सुरक्षा के लिए दिन रात निगरानी कर रहे हैं। किसी प्रकर की गड़बड़ी न होने पाए। इन सभी कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों की अलग-अलग पालियों में ड्यूटी लगाई गई है।समर्थकोंको आशंका लग रही है कि प्रशासन द्वारा शासन के दबाव में आकर  ईवीएम में किसी प्रकार की छेड़छाड़  एवं ईवीएम को बदल ना दिया जाए।जनता जनार्दन से मिले अपार समर्थन की वजह से समाजवादी पार्टी एटा लोकसभा क्षेत्र से अपनी जीत मानकर चल रही है।इसी वजह से समाजवादी पार्टी के समर्थन एवं कार्यकर्ता शहर के मंडी परिसर में टेंट लगाकर अपना डेरा जमा चुके हैं, और हर गतिविधि  पर निगरानी कर रहे हैं।

इस वजह से कर रहे हैं निगरानी

आपको बताते चलें कि जनपद में तीसरे चरण में मंगलवार को मतदान कराया गया था।मतदान समाप्त होनेके बाद जनपद के सोरों में स्थित एक पोलिंग बूथ पर गड़बड़ी  एवं अपने ऊपर हुए जानलेवा हमले की सिकायत  करने समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष विक्रम यादव अपने समर्थकों के साथ पहुंचे थे । तो इनकी शिकायत सुनने की जगह इन्हें पुलिस ने फटकार कर भगा दिया था।और तभी से समाजवादी पार्टी को लगने लगा  है कि  कहीं प्रशासन सरकार के दबाव में आकर गड़बड़ी न कर दे।

हमारी टीम द्वारा जब जनता जनार्दन से वर्तमान सांसद के कार्यों सेसंतुष्ट होने के बारे में जानकारी ली गई तो उन्होंने कहा कि वर्तमान सांसद ने ट्रांसफर पोस्टिंग के अलावा कोई कार्य नहीं।जब उत्तर प्रदेश से लेकर और देश तक जब उनकी सरकार है तो उनके द्वारा एटा रेलवे लाइन को कासगंज तक अब तक क्यों नहीं जुड़वा पाये।लोगों ने कहा कि आखिर एटा में मेडिकल कॉलेज तो बन गया है मगर जनता जनार्दन को फिर भी गंभीर और बेहतर इलाज के लिए अलीगढ़ और आगरा क्यों रेफर किया जा रहा है।यह मेडिकल कॉलेज केवल सफेद हाथी बनकर रह गया है।

कासगंज स्थित मंडी परिसर में ईवीएम की सुरक्षा करते समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता एवं समर्थक

 कहना था कि उनकी सांसद निधि आखिर कहां खर्च होती रही यह आज तक किसी को नहीं पता है। जबकि जनपद में ग्रामीण अंचलों की 80% सड़कें खस्ता हाल पड़ी हैं ।जिनसे निकलने  में राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।लोगों ने कहा कि अब तक वर्तमान सांसद ने लोकसभा में हमारी समस्याओं से जुड़े कितने मुद्दे उठाए हैं, आज तक किसी को नहीं मालूम।हर तरफ हमारी टीम को वर्तमान सांसद के कार्यकलापों एवं लोकसभा क्षेत्र में किसी के यहां प्रोग्राम में नहीं जाना भी नागवार गुजरा है।लोगों मैं इस बात का भी दर्द दिखाई दिया कि जनपद में तेजतर्रार  एवं जनप्रिय तथा ईमानदार जिलाधिकारी रहे विजय किरण आनंद को आखिर किसने हटवाया और क्यों हटवाया था।आखिर ईमानदार और युवा आईएएस और आईपीएस,  और पीसीएस एवं पीपीएस अधिकारियों को क्यों नहीं टिकने दिया गया।

खबर —-जनता जनार्दन से बातचीत के आधार पर।

[democracy id="1"]

Related Articles

Back to top button