Sk News Agency- Delhiजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

अडानी मुद्दे को लेकर संसद से लेकर सड़क तक विपक्ष का हंगामा।

विपक्षी दलों के सांसदों ने संसद भवन से विजय चौक तक निकाला तिरंगा मार्च।

Sk News Agency-UP

Sk News Agency-सदैव आपके मोबाइल पर

नयी-दिल्ली , 6अप्रैल 2023

अदानी मुद्दे को लेकर विपक्ष ने जमकर हमला बोला और संसद भवन से लेकर विजय चौक तक तिरंगा मार्च निकाला। जिसमें आम आदमी पार्टी से लेकर कई विपक्षी दलों के सांसद शामिल रहे।आज कांग्रेस सहित विपक्षी दलों के सांसदों ने संसद के दोनों सदनों में अदानी मुद्दे की जांच कराए जाने के लिए  जेपीसी की मांग को लेकर जमकर हंगामा काटा।वहीं दूसरी तरफ विपक्ष ने सड़क पर आकर भी सरकार को घेरा। आज गुरुवार को लोकसभा की कार्यवाही अनिश्चितकालीन और राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 2:00 बजे तक होने के बाद भी विपक्षी सांसद सड़क पर उतर आए।विपक्षी दलों के सांसदों ने संसद भवन से लेकर विजय चौक तक तिरंगा  मार्च निकाला। इस विपक्षी दलों के सांसदों के मार्च का नेतृत्व भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने किया।कांग्रेस पार्टी का कहना है कि अदानी मुद्दे के सवाल को लेकर मोदी सरकार डरी हुई है। यदि डरी हुई नहीं है तो अदानी मुद्दे की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) का गठन क्यों नहीं कर रही है। विपक्ष के इस तिरंगा मार्च में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी भी विपक्षी दलों के सांसदों के साथ नजर आए।विपक्षी दलों के सांसदों ने अडानी मुद्दे को लेकर खूब हंगामा, और नारेबाजी की। विपक्षी सांसदों ने संसद के दोनों सदनों में वी वांट जेपीसी, अडानी को बचाना बंद करो, और मोदी अडानी भाई भाई देश बेच कर खाई मलाई के नारे लगाए ।और लोकसभा की कार्यवाही अनिश्चितकालीन और राज्यसभा की कार्यवाही 2:00 बजे तक के लिए स्थगित करनी पड़ी।विपक्ष के नेता और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि अडानी मुद्दे की जेपीसी से जांच कराई जाने की मांग को लेकर हमने लोकतांत्रिक तरीके से लड़ाई लड़ी है ।उन्होंने केंद्र पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार अगर नहीं मानती है तो यह एक हठधर्मिता के साथ कार्य करने वाली सरकार है । लोकतंत्र को अगर आप जिंदा रखना चाहते हैं तो विपक्ष की बात हुई सुननी पड़ेगी ।सरकार को हमेशा सकारात्मक रहते हुए प्रतिक्रिया देनी चाहिए। विपक्ष भी लोकतंत्र का एक हिस्सा है।

 

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button