Sk News Agency-UPजनसमस्याब्रेकिंग न्यूज़राजनीतिराज्यलखनऊ

अचानक मुख्यमंत्री का आवास घेरने पहुंच गए 69000 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी, मुख्यमंत्री का खुफिया तंत्र फेल।

शिक्षा मंत्री के बाद आज मुख्यमंत्री के आवास के सामने धरना प्रदर्शन किया।

Sk News Agency-UP

(ब्यूरो डेस्क)

लखनऊ -न्यूज़ एजेंसी नेटवर्क———-प्रदेश में 69000 शिक्षक भर्ती की अभ्यर्थी लगता धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।प्रदर्शन कर रहे उम्मीदवार कट ऑफ लिस्ट में एक अंक काम कर भर्ती में शामिल करने की सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का हवाला दे रहे हैं। इसी क्रम में आज सुबह प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आवास का घेराव करने बड़ी संख्या में अभ्यर्थी पहुंच गई।इतने लोगों की भीड़ देखकर लोगों में कौतूहल मच गया।अभ्यर्थी जब चौराहे पर प्रदर्शन कर रहे थे ।तो जिसके चलते कुछ समय के लिए सड़क पर जाम की स्थिति उत्पन्न हो गई।

मुख्यमंत्री आवास के बाहर प्रदर्शन करते महिला एवं पुरुष अभ्यर्थी –Sk News Agency

और लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।मगर दिलचस्प बात तो यह रही की मुख्यमंत्री की खुफिया विंग और पुलिस को इस प्रदर्शन की भनक तक नहीं लग सकी।और मुख्यमंत्री आवास गिरने को इतने अभ्यर्थी पहुंच गए।बाद में मौके पर पहुंचकर पुलिस ने अभ्यर्थियों को बलपूर्वक हिरासत में लेकर दूसरी जगह (इको गार्डन) पहुंचा दिया गया ।आपको बता दें कि 12 अक्टूबर की दोपहर को  प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री संदीप सिंह के आवास के बाहर अभ्यर्थियों ने प्रदर्शन किया था। लेकिन शिक्षा मंत्री मौजूद नहीं थे मगर उनकी सुरक्षा प्रशासन ने अभ्यर्थियों के प्रतिनिधिमंडल को शिक्षा निदेशालय भेजा था।अभ्यर्थियों के प्रतिनिधि मंडल को  स्कूली शिक्षा महानिदेशक विजय किरन आनंद एवं बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव प्रताप सिंह बघेल तथा परीक्षा नियामक प्राधिकरण सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी के साथ प्रतिनिधि मंडल की वार्ता भी हुई।

अभ्यर्थियों को जबरन उठाकर ले जाती पुलिस—Sk News Agency

लेकिन उसमें कोई लिखित आश्वासन नहीं दिया गया इससे नाराज अभ्यर्थियों ने धरना प्रदर्शन जारी रखने का निर्णय लिया था।अभ्यर्थियों ने मीडिया को बताया कि वह लगातार दो महीने से धरना दे रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट का आदेश आए भी 1 वर्ष के लगभग हो गया है ।लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही अमल में नहीं लाई गई है। सरकार की तरफ से सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है। आखिर सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का क्यों पालन नहीं किया जा रहा है। और जब हम मुख्यमंत्री आवास के बाहर शांतिपूर्ण तरीके से अपना धरना प्रदर्शन कर रहे हैं, तो हमको बल प्रयोग करके भगाया जा रहा है।अभ्यर्थियों ने चेतावनी भी दी है कि अगर सरकार जल्द हमारी मांगों  को नहीं मानती है। तो इससे और भी उग्र आंदोलन करने पर मजबूर होंगे।अभ्यर्थियों के प्रदर्शन को लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी सरकार को घेरा है ।और उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ पर अभ्यर्थियों की समर्थन में ट्वीट  भी किया है।

sknewsagencyindia@gmail.co

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

आप आने वाले लोकसभा चुनाव में किसको वोट करेंगे?

Related Articles

Back to top button